Home > हिन्दी वाइरल > योगी सरकार के दलित विरोधी तेवर, सरकारी अस्पताल से हटाया संविधान के निर्माता का नाम

योगी सरकार के दलित विरोधी तेवर, सरकारी अस्पताल से हटाया संविधान के निर्माता का नाम

इस समय देश में दलित पर जिस तरह पूर्व में अत्याचार होते है ठीक उसी तरह वो दौर वापस आता दिख रहा है। नए साल की शुरुवात भीमा कोरेगाव हमले से हुई और मीडिया पीड़ित दलितों की बात रखने के बजाए इसे हिन्दू बनाम दलित दिखा रही है। अब खबर है कि उत्तर प्रदेश में डॉ भीम राव आंबेडकर के नाम से चल रहे अस्पताल का नाम बदल दिया गया है।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती द्वारा करोडो की लागत से बना नोएडा सेक्टर 30 स्थित डॉ. भीमराव अंबेडकर मल्टी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का भाजपा सरकार ने नाम बदलकर अब राजकीय संयुक्त जिला चिकित्सालय कर दिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को अस्पताल के नए नाम का बोर्ड भी लगा दिया गया। खबर के अनुसार नोएडा प्राधिकरण द्वारा चलाए जा रहे इस जिला अस्पताल को अप्रैल माह में राज्य सरकार भी कर सकती है।

गौरतलब है वर्ष 2012 में सूबे समाजवादी सरकार थी लेकिन नाम ज्यो की त्यों रहा लेकिन अपने चुनाव प्रचार में बाबा साहेब आंबेडकर का नाम लेने वाली भाजपा ने सत्ता पाते ही बाद डॉ. भीमराव अंबेडकर का नाम हटाकर इसे सीधे राजकीय जिला संयुक्त चिकित्सालय कर दिया गया है।

बता दे केंद्र में भाजपा सरकार और 19 राज्यों में भाजपा की सरकार आने के बाद से हाल ही में कई ऐसी घटनाए सामने आई जिसमे डॉ भीम राव आंबेडकर की छवि और मूर्ती को नुकसान पहुचाया गया है। देशभर में लगाए गए डॉ. भीमराव अंबेडकर की मूर्ति को खंडित करने का अभियान चलाया जा रहा है जिसपर भाजपा नेतृत्व कोई भी बात करने से बचता दिख रहा है।

You may also like
योगी सरकार के आदेश के बाद विवाह पंजीकरण करवाने पहुचे मुस्लिम मंत्री मोहसिन रज़ा
Uttar Pradesh RERA chairman to be appointed soon: Yogi
UP CM urged to allow state buses to run on ethanol
UP U-turn on separate lanes for VIPs at toll plazas