Home > हिन्दी वाइरल > उत्तर प्रदेश: अधिकारियो पर गरजे डिप्टी सीएम, भाजपा कार्यकर्ता को परेशांन करने वाले सुधर जाए

उत्तर प्रदेश: अधिकारियो पर गरजे डिप्टी सीएम, भाजपा कार्यकर्ता को परेशांन करने वाले सुधर जाए

keshavprasad maurya

पिछले वर्ष उत्तर प्रदेश में भाजपा ने प्रचंड बहुमत से सूबे में सरकार बनाई थी. योगी सरकार को अब लगभग एक साल होने को है और अब सरकार के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या की नज़रों में कुछ अधिकारी खटकने लगे है। उन्होंने कहा है कि कुछ अफसर अपने पद का दुरुपयोग कर रहे हैं। उन्होंने स्पष्ट रूप से धमकी भरे अंदाज़ में उचित होगा कि सुधर जाएं।

दरअसल बुधवार 25 अप्रैल को उत्तर प्रदेश के फूलपुर से पूर्व सांसद और मौजूदा डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने एक ट्वीट कर अपने पद का दुरूपयोग कर रहे अधिकारियों को चेतावनी दी है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘पार्टी के कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों ने दिन रात कठोर परिश्रम करके सरकार बनाई है सत्ता का सुख भोगने के लिए नहीं, ईमानदारी के साथ जन सेवा करने के लिए बनाई है। कुछ अधिकारी पद का दुरुपयोग करके उन्हीं कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित कर रहे हैं जो दुर्भाग्यपूर्ण है उचित होगा कि सुधार लाएं।’

इस ट्वीट के पीछे कयास लगाए जा रहे है कि शायद भाजपा के कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा वरिष्ट नेताओं से इस बात की शिकायत (कुछ अधिकारी पार्टी कार्यकर्ताओं को भाजपा की सामान्य गतिविधियों में शामिल होने से रोक रहे है) के बाद डिप्टी सीएम ने ऐसा ट्वीट किया है।

इससे पहले भी 24 अप्रैल को किए गए एक ट्वीट में मौर्य ने अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा था कि स्थानीय अधिकारियों की शिकायत प्रत्यक्ष से कहीं ज्यादा मेरे व्यक्तिगत फेसबुक अकाउंट और ट्विटर हैंडल पर कॉमेंट के रूप में मिलती है। उन्होंने अधिकारियों से कहा था, ‘मैं स्पष्ट रूप से कहना चाहता हूं कि पुरानी पद्धति को त्यागकर सरकार की जनकल्याणकारी मंशा के अनुरूप लोक सेवा करेंl’

गौरतलब है कि डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या खुद भी अध्यक्ष रह चुके है और ज़मीन स्तर पर स्थिति को अच्छी तरह जानते है। वह हमेशा अपने कार्यकर्ताओं को महत्त्व देते है। वह कई बार अफसरों को फटकार लगा चुके है। बुधवार को अमेठी के दौरे पर पहुंचे केशव प्रसाद मौर्य ने 118 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। साथ ही अमेठी में 55 करोड़ की लागत से पूरी हुई कई परियोजनाओं का उद्घाटन इस दौरान डिप्टी सीएम ने कहा कि 15 सालों में सपा और बसपा के शासन में काम कर चुके अधिकारियों का दिमाग अब तक ठीक नहीं हुआ है। केशव प्रसाद ने कहा कि जो अधिकारी नहीं सुधरे हैं उन्हें कोई बचा नहीं सकता है। केशव प्रसाद ने अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा कि अगर हमारा कोई भी कार्यकर्ता किसी काम को लेकर प्रशासन के पास जाए तो उसे सम्मान सहित बैठाना चाहिए और उसकी बात सुनी जानी चाहिए।