Home > Sports > सानिया मिर्ज़ा ने सुनाई अपने संघर्ष की कहानी, रिश्तेदार कहते थे – काली हो जाओगी तो कोई…

सानिया मिर्ज़ा ने सुनाई अपने संघर्ष की कहानी, रिश्तेदार कहते थे – काली हो जाओगी तो कोई…

भारतीय टेनिस की स्टार खिलाड़ी सानिया मिर्ज़ा आज भले ही सफलता का स्वाद चख रही हो लेकिन कभी भी किसी को सफलता बिना संघर्ष के नहीं मिलती। ऐसा ही कुछ सानिया मिर्ज़ा के साथ भी हुआ है और उन्होंने मुंबई में यूएन वोमेन एंथम ‘मुझे हक़ है’ के लांच पर अपनी आपबीती सुनाई। छह ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने वाली सानिया ने इस मौके पर अपने करियर के शुरुवाती दिनों के बारे में बताया।

जनसत्ता की रिपोर्ट के अनुसार सानिया मिर्ज़ा ने कहा कि जब उन्होंने टेनिस खेलना शुरू किया था तो लोग उनका और उनके माता-पिता का बहुत मज़ाक उड़ाते थे। सानिया ने बताया कि जब वह छह साल की थी तो उन्होंने टेनिस खेलना शुरू किया था। सानिया ने कहा कि जब मेरे माता-पिता ने मुझे टेनिस प्लेयर बनाने का फैसला किया तो मेरे अंकल और आंटी ने कहा था कि काली हो जाएगी देखना, कोई शादी नहीं करेगा।

रिपोर्ट के अनुसार सानिया ने कहा कि मुझे लगता है कि मेरे पिता मेरे सबसे बड़े हीरो है, जो सभी के खिलाफ खड़े हुए और कहा कि मुझे किसी की परवाह नहीं है। अपने पिछले दिनों को याद करते हुए सानिया मिर्ज़ा ने कहा कि सभी लोग मेरा और मेरे माता-पिता का मजाक उड़ाते थे, वो लोग कहते थे कि आपको क्या लगता है कि आपकी बेटी मार्टिना हिंगिस बन जाएगी? सानिया ने कहा कि किस्मत की बात देखिये, मैंने अपने तीन ग्रैंड स्लैम मार्टिना हिंगिस के साथ ही जीते है।

आपको बता दें कि सानिया ने पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मालिक से शादी की थी। सानिया ने कहा कि मेरे परिवार में सभी क्रिकेटर है, जिनमे मेरे पिता भी शामिल है। खेलो में पुरुष और महिला खिलाडियों के बीच भेदभाव पर सानिया ने कहा कि आज भी हम लोग टेनिस प्लेयरों को सामान प्राइज मनी के लिए संघर्ष कर रहे है। सानिया ने कहा कि दुनिया में असमानता हर जगह है, ये सिर्फ यहां की बात नहीं है।